Up By Election Results 2020 Updates In Hindi: Bjp Got Votes Of All Castes – Up By Election 2020: भाजपा ने तोड़ा जातिगत मिथक, सभी जातियों का मिला वोट

Up By Election Results 2020 Updates In Hindi: Bjp Got Votes Of All Castes – Up By Election 2020: भाजपा ने तोड़ा जातिगत मिथक, सभी जातियों का मिला वोट

बिहार चुनाव नतीजे 2020
Live Result Updates

खबरें, विश्लेषण, साक्षात्कार और विशेष वीडियो

ख़बर सुनें

उप चुनाव में भाजपा की जीत ने जातिगत समीकरण को बिगाड़ दिया। जिस तरह से मतगणना के शुरू से आखिर तक रुझान आए, उससे साफ  नजर आया कि भाजपा को सभी जातियों को वोट हासिल हुआ। 

इस जीत से बिकरू कांड में ब्राह्मण की हत्या को लेकर उठा प्रचार और हाथरस कांड में सरकार दलित विरोधी हैं, विपक्षियों की तरफ से लगाए गए ऐसे नारे बेमानी साबित हुए। यह भी साफ हो गया कि प्रदेश सरकार से जनता गुस्से में नहीं बल्कि उसकी नीतियों का समर्थन करती है।

दलित वोटों के बल पर अपनी जीत पक्की मानकर चल रही बसपा सिर्फ हारी ही नहीं, उसे पिछले चुनाव की अपेक्षा इस बार एक पायदान और नीचे (तीसरे स्थान पर) पर संतोष करना पड़ा। इसी तरह पिछड़ों का नेतृत्व करने वाले दो पूर्व सांसदों, राकेश सचान और राजाराम पाल अपने कांग्रेस प्रत्याशी डा. कृपाशंकर को जिताने में पिछड़ी जातियों का भरोसा नहीं जीत पाए।

इतना जरूर है कि इस बार सपा की जगह मुस्लिम वोट उनके पक्ष में अधिक हुआ है। यही हाल समाजवादी पार्टी प्रत्याशी और पूर्व विधायक इंद्रजीत कोरी का है। हमेशा पिछड़ी जातियों के बल पर राजनीति करते आए कोरी इस बार एक पायदान नीचे खिसक कर चौथे पर चले गए।

भाजपा के कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह बताते हैं कि संगठन के स्तर से जिस तरह की व्यवस्था चुनाव के दौरान बनाई गई, उसमें सभी जाति और धर्म से जुड़े लोगों का साथ मिला।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल की तरफ से शुरू से ही सबको साथ लेकर चलने की बनाई गई रणनीति के तहत काम किया।

इसी वजह से यह जीत मिली। प्रदेश सरकार में मंत्री और घाटमपुर विधानसभा क्षेत्र की उप चुनाव में प्रभारी नीलिमा कटियार का कहना है कि संगठन के स्तर और सरकार के स्तर से शुरू से ही सब को जोड़कर आगे बढ़ने का प्रयास किया गया। जिसका परिणाम जीत के रूप में सामने आया है। उनका कहना है कि महिलाओं की सुरक्षा और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ सरकार का अभियान का भी सम्मान किया गया है।

इस तरह रहा परिणाम

भाजपा- 60405

कांग्रेस- 36585

बसपा- 33955

सपा- 22735

उप चुनाव में भाजपा की जीत ने जातिगत समीकरण को बिगाड़ दिया। जिस तरह से मतगणना के शुरू से आखिर तक रुझान आए, उससे साफ  नजर आया कि भाजपा को सभी जातियों को वोट हासिल हुआ। 

इस जीत से बिकरू कांड में ब्राह्मण की हत्या को लेकर उठा प्रचार और हाथरस कांड में सरकार दलित विरोधी हैं, विपक्षियों की तरफ से लगाए गए ऐसे नारे बेमानी साबित हुए। यह भी साफ हो गया कि प्रदेश सरकार से जनता गुस्से में नहीं बल्कि उसकी नीतियों का समर्थन करती है।

दलित वोटों के बल पर अपनी जीत पक्की मानकर चल रही बसपा सिर्फ हारी ही नहीं, उसे पिछले चुनाव की अपेक्षा इस बार एक पायदान और नीचे (तीसरे स्थान पर) पर संतोष करना पड़ा। इसी तरह पिछड़ों का नेतृत्व करने वाले दो पूर्व सांसदों, राकेश सचान और राजाराम पाल अपने कांग्रेस प्रत्याशी डा. कृपाशंकर को जिताने में पिछड़ी जातियों का भरोसा नहीं जीत पाए।

इतना जरूर है कि इस बार सपा की जगह मुस्लिम वोट उनके पक्ष में अधिक हुआ है। यही हाल समाजवादी पार्टी प्रत्याशी और पूर्व विधायक इंद्रजीत कोरी का है। हमेशा पिछड़ी जातियों के बल पर राजनीति करते आए कोरी इस बार एक पायदान नीचे खिसक कर चौथे पर चले गए।

Source link

Leave a Reply

Work From Home Jobs