आख़िरकार कैसे रामानन्द सागर की रामायण ने सारे रेकोर्ड ध्वस्त कर डाले?

Ramanand Sagar Ramayana the epicरामायण का जून 2003 को लिम्का बुक रिकॉर्ड में नाम दर्ज कर लिया गया था पांच महाद्वीपों में दिखाई जाने वाली रामायण को विश्व भर में 65 करोड़ से ज्यादा दर्शकों ने देखा था जब रामायण में रावण की मृत्यु होती है तो रावण का पात्र अरविंद त्रिवेदी के गांव में शोक मनाया जाता हैरामायण का पहला एपिसोड दूरदर्शन पर 25 जनवरी 1987 को प्रसारित किया गया था रामायण भारत का इकलौता टीवी धारावाहिक दौरान पब्लिक ट्रांसपोर्ट जाम हो जाता थाआज के समय मे भी जबकि हिंदुस्तान एक modern युग की और अग्रसर ह तब भी सोशल मीडिया पर रामायण top trend करने लगी है जबकि corona virus सोसियल मीडिया में पिछड़ गया भारत के बहुत भागो में ऐसी परंपरा थी कि रामायण शुरू होने से पहले रामायण देखने वाले सभी लोग अपने जूते चप्पल बाहर निकाल देते थे क्योंकि वे रामायण को मंदिर की तरह पूजते थे और उस के पात्र तो इतने मशहूर हो गए थे कि वह जहां भी मिलते थे लोग उन को हाथ जोड़ कर नमस्कार करते थे।यह भी कहा जाता है कि रामानंद सागर कृत रामायण उन दिनों का सबसे विशाल धारावाहिक होता था और इसमें लगभग 5000000 व्यक्तियों ने काम किया था और इसकी विशालता का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि यह लिम्का बुक में दर्ज की हुई एक धारावाहिक है जो अपने आप को एक विशालता के परचम में मजबूत करती हैRead more:RamayanLuv kush RamayanRamayan Ramanand SagarRamayanam KathaHindi RamayanOriya RamayanQuestion: आपका पसंदीदा रामायण का किरदार कौन सा है फटाफट जवाब दीजिए और जीतिए PAYTM CASH ?

7+1=

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *