आपको ऐसा क्या करना चाहिए कि लोग आपको गंभीरता से लेने लगे?

आपको ऐसा क्या करना चाहिए कि लोग आपको गंभीरता से लेने लगे?

देखिए गंभीरता से लेने का मतलब यह नहीं है कि आप जाकर किसी भी अस्पताल में गंभीर अवस्था में भर्ती हो जाओ और लोग आपको देखकर किसी की बहुत ही गंभीर अवस्था में है वह व्यक्ति अपितु यहां गंभीर लेने की यह स्थिति है कि लोग आपको समझे जाने और उसका अनुसरण भी करें ।

यह स्थिति हम एक उदाहरण के हिसाब से बहुत खूब समझ सकते हैं कि

स्थिति . आप रास्ते में कहीं जा रहे हैं और जाते-जाते आपको कोई सांप दिख जाए या फिर अगर आप अपने घर पर ही हैं अगर आपको कोई साफ दिख जाए तो या तो आप डर के मारे चारपाई पकड़ लोगे या फिर अगर आप थोड़े बहादुर है तो उसे पीट-पीटकर घर से बाहर भगा दोगे परंतु यहां दोनों ही अवस्था में अगर देखा जाए तो

साँप की कोई भी इज्जत नहीं है और कोई भी उसे गंभीरता से नहीं ले रहा है परंतु स्थिति दूसरी वाली इससे अलग ही है।

स्थिति २. दूसरी स्थिति को इस प्रकार भी समझा जा सकता है कि यदि कोईसांप चलता हुआ भगवान शिव के किसी शिवलिंग के ऊपर जा बैठे या फिर बराबर में जा बैठे तो वह शायद ही अलग तरीके का माहौल होगा और शायद दुनिया भर के लोग उस पर दूध और अन्य प्रकार के पकवान चढ़ाना शुरू कर दें और यह सत्य भी है

दूसरी स्थिति हमेशा यह कहती है अगर आपने अपने गुणों को और अपने ज्ञान में वृद्धि की है तो आप अनायास ही समाज में प्रशंसा के हकदार होंगे और हमेशा लोग आपको एक गंभीरता से ही लेंगे .

शुरू शुरू में तो इस पर इस रास्ते पर आपको कठिनाई का सामना करना पड़ेगा परंतु इस रास्ते पर चलते हुए आपको जो ज्ञान अर्जित होगा वह एक विशेष प्रकार का होगा जिसमें सभी के प्रश्नों के उत्तर समाहित होंगे। इस प्रकार से आप व्यर्थ के कामों में ना लगकर आपके पास एक ज्ञान का भंडार होगा जिससे आप सभी तरीके की लोगों की परेशानियां दूर करेंगे और अनायास ही अपने समाज में प्रसिद्ध भी हो जाएंगे यह सब ज्ञान पर ही निर्भर करता है

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *